Wednesday, 16 November 2016

तो ये है सोनम गुप्ता के बेवफा होने की कहानी ?

कल से ही सोशल मीडिया में 10 और 2000 रुपये के नोट की फोटो शेयर की जा रही है जिस पर लिखा है "सोनम गुप्ता बेवफा है"। किसी लड़की का नाम इस तरह से बदनाम करना बिलकुल गलत है। इस के दोषी पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। नोटों को विरूपित करने का मामला भी दर्ज होना चाहिए। ताकि कोई भविष्य में इस तरह की हरकत न करे।

इसी बीच कुछ लोगों ने अपनी कल्पनाशीलता का परिचय देते हुए कुछ मनगढन्त कहानियाँ भी सोशल मीडिया में शेयर करनी शुरू कर दी है। जिसमें से एक निम्न प्रकार से है।  

बहुत पहले की बात है, राजू और सोनम गुप्ता एक ही बस में सफर कर रहे थे। कंडेक्टर से टिकट लिया, उसके पास छुट्टे नही थे। 20 का नोट था और सोनम और राजू दोनों को ही 10-10/- लौटाने थे। सोनम और राजू दोनों का स्टॉपेज एक ही था, बस कंडेक्टर राजू को 20 का नोट दिया और बोला, "भाई ये ले, जब स्टॉप पर उतरे तो मैडम को खुले करा के 10/- दे दियो और अपने10/- रख लियो।" 

जब सोनम को ये बात पता चली तो वो राजू को देख मुस्कुरायी। राजू के मन में लड्डू फूटने लगे। उसने बातो ही बातों में सोनम से उसका नाम पूछा, वो कहाँ जायेगी ये पूछा और भी थोड़ी इंफॉर्मेशन मांगी और फिर आँख बंद करके सोनम के साथ सुनहरे भविष्य के सपने देखने लगा। सपने देखते देखते कब स्टॉप आ गया उसे पता ही नही लगा। वो सपने देखते रहा। 

इतने में सोनम भी उससे अपने छुट्टे पैसे लेना भूल चुकी थी। जैसे ही स्टॉप आया, सोनम, जो कि पहले ही बस के गेट पर पहुच चुकी थी, वो उतर गयी, इसी बीच राजू को भी अहसास हुआ कि स्टॉप आ गया है तो वो उठा और दौड़ते हुए गेट पर पहुंचा, उसकी नज़र चारो और बस सोनम को ढूंढ रही थीं। जब तक वह गेट पर पहुंचा बस हल्की हल्की चल पड़ी थी, वह चलती बस में से कूद कर बाहर आया और सोनम गुप्ता को ढूंढने लगा। 

तभी अचानक उसकी निगाहें दूर खड़ी, किसी से हंस कर बात करती हुई सोनम पर पड़ीं। जैसे समय रुक गया हो उसका, उसने पास के एक ठेले से एक पाउच पान बहार का लिया, उसे खोल कर मुंह में डाला, और 10/- हाथ में लिए वह सोनम की और जाने लगा। उसे ऐसा लग रहा था जैसे वह शाहरुख़ खान हो और सोनम की ओर स्लो मोशन में भाग रहा हो। अचानक उसकी निगाह उस पर पड़ीं जिससे वह बात कर रही थी, वो एक लंबा, हैंडसम सा लड़का था, जो बार बार उसका हाथ पकड़ रहा था। 

राजू को थोड़ा गुस्सा आया वह थोड़ा तेज़ी से सोनम की ओर बढ़ने लगा, लेकिन इसी बीच सोनम उस लड़के के साथ पास खड़ी बाइक पर बैठ गयी, लड़के ने बाइक स्टार्ट की, सोनम ने उसके कमर में हाथ डाले और वह लड़का सोनम को लेकर फुर्र। अब राजू खड़ा देखता रह गया। बहुत गुस्सा आया, उसके सपने चूर चूर हो चुके थे। उसने आव देखा न ताव, हाथ में लिए 10 के नोट पर लिखा "सोनम गुप्ता बेवफा है "। उसे पास बैठे एक भिखारी को दिया और तेजी से मुंह का गुटका थूकता हुआ स्टेशन से निकल गया। 

वह बरसों सोनम से बिछड़ा तो रहा लेकिन उसे कभी भूल नही पाया। अब परसों जब वह अपने नोट बदलवा कर बैंक से निकला तो सामने अचानक से सोनम दिख गयी। सोनम गुप्ता को देखकर उसके मन के अरमान फिर से जाग गये। उसके हाथ में 2 हज़ार के दो करारे नोट थे। जैसे ही सोनम को देखा तो उसकी और जाने लगा। अचानक से फिर वही लड़का सामने था, इस बार गाड़ी में, उसके साथ बैठी और चली गयी। 

राजू को फिर गुस्सा आया और उसने 2 हज़ार के नोट पर लिखा "सोनम गुप्ता बेवफा है" और लाइन में खड़े एक लड़के से 500 के 4 नोट लेकर वो 2 हज़ार का नोट उसे देकर खुद फिर से लाइन में लग गया। 

तो यही है अपने राजू की दर्द भरी, सोनम गुप्ता के बेवफा होने की कहानी।  

(नोट : ये कहानी सोशल मीडिया में बहुत शेयर की जा रही है। इसके पात्र का किसी व्यक्ति विशेष से सम्बन्ध नहीं है। लेखक इसके मूल-लेखक होने का दावा नहीं करता। हमारा उद्देश्य किसी की भावना को आहत करना नहीं है। लेख का उद्देश्य सिर्फ और सिर्फ विशुद्ध मनोरंजन करने के सिवा और कुछ नहीं है।)
( साभार : सोशल मीडिया )

No comments:

Post a Comment